लखीमपुर खीरी कांड में मृतकों के परिजनो ने सुप्रीम कोर्ट से लगाई गुहार

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

लखीमपुर खीरी मामला बार-बार उछल रहा है अब इस मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के पुत्र आशीष मिश्रा को मिली जमानत के खिलाफ पीड़ितों के परिजन सुप्रीम कोर्ट पहुंचे हैं परिजनों ने सुप्रीम कोर्ट से गुहार लगाई है कि वह आशीष मिश्रा की जमानत निरस्त करे आरोपी आशीष मिश्रा को इलाहाबाद हाई कोर्ट की लखनऊ बेंच ने बीते दिनों जमानत दी है

जमानत मंजूर होने के बाद ही मृत किसानों के परिजनों ने फैसले का विरोध किया था और इस आदेश को चुनौती देने की बात कही थी गत वर्ष 3 अक्तूबर को लखीमपुर में तीन कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसानों पर भाजपा नेताओं के काफिले की एक कार चढ़ गई थी इस मामले में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा का नाम आया था इसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था

तीन अक्तूबर को लखीमपुर खीरी के तिकुनिया गांव में हुई हिंसा मामले में एसआईटी ने तीन महीने के अंदर सीजेएम अदालत में तीन जनवरी को 5000 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की थी इसमें आशीष मिश्र को मुख्य आरोपी बनाते हुए 13 आरोपियों को मुल्जिम बताया था इन सभी के खिलाफ सोची समझी साजिश के तहत हत्या हत्या का प्रयास अंग भंग की धाराओं समेत आर्म्स एक्ट के तहत कार्रवाई की थी 10 फरवरी को इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ पीठ ने जमानत अर्जी पर सुनवाई करते हुए आशीष मिश्र मोनू की जमानत अर्जी सशर्त मंजूर कर ली थी

लेकिन जमानत आदेश में धारा 302 और 120 बी का जिक्र नहीं था लिहाजा 11 फरवरी को आशीष मिश्र के वकील ने जमानत आदेश में सुधार की अदालत में अर्जी लगाई थी जिसके बाद 14 फरवरी को हाईकोर्ट ने मामले में सुनवाई करते हुए जमानत आदेश में हत्या व साजिश की धाराएं जोड़ने का आदेश दिया था हाईकोर्ट के आदेश के बाद आशीष मिश्रा को जमानत का आदेश 14 फरवरी को जिला जज अदालत में पेश हुआ था इसके बाद जेल प्रशासन ने आशीष मिश्रा मोनू को रिहा कर दिया था

rudranews
Author: rudranews

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FOLLOW US

RELATED STORIES

live cricket Update

Stock Market

हमसे अन्य सोशल मीडिया में जुड़े