देहरादून में सीएमएस पर आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा हुआ दर्ज

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin

देहरादून में राजकीय अस्पताल प्रेमनगर में संविदा पर तैनात एंबुलेंस चालक की आत्महत्या के मामले में पुलिस ने अस्पताल के प्रभारी सीएमएस के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज किया है सीएमएस पर आरोप है कि उन्होंने कई महीने से चालक का वेतन जारी नहीं होने दिया साथ ही सरकारी आवास खाली करने के लिए भी उन पर दबाव बनाया आपको बता दे 5 अप्रैल की शाम को राजकीय अस्पताल प्रेमनगर के सरकारी आवास में रहने वाले यशवंत सिंह गुसांई ने फांसी लगा ली थी

घटना के समय उनके अलावा आवास पर कोई मौजूद नहीं था शाम के समय पत्नी और बेटा बाहर घूमने गए थे लौटने पर पत्नी को पता चला तो उन्होंने प्रेमनगर थाना पुलिस को सूचना दी पंचायतनामा की कार्रवाई के दौरान मृतक की जेब से पुलिस ने सुसाइड नोट बरामद किया जिसमें यशवंत सिंह ने अपनी मौत का जिम्मेदार अस्पताल के प्रभारी सीएमएस डा. राजेश कुमार अहलूवालिया को ठहराया गुरुवार को प्रेमनगर थाना पुलिस ने मृतक की पत्नी प्रीतिका गुसांई की तहरीर पर सीएमएस डा. राजेश कुमार अहलूवालिया के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज कर लिया है

प्रीतिका के भाई रविंदर सिंह रावत ने बताया कि डा. राजेश कुमार की ओर से लंबे समय से उन्हें परेशान किया जा रहा था पहले भी उनका वेतन रोका था लेकिन अधिकारियों से बातचीत के बाद किसी तरह से वेतन जारी किया गया 31 मार्च को संविदा अवधि खत्म होने के बाद चिकित्सक ने सरकारी आवास का किराया जमा न करने पर नोटिस जारी किया था आरोप लगाया कि चिकित्सक की ओर से उन्हें बात-बात नोटिस थमा दिए जाते थे सबसे हंसकर बातचीत करने वाले यशवंत सिंह दो-तीन दिन से काफी अवसाद में थे पड़ोसियों ने बताया कि वह अपने डेढ़ वर्ष के बेटे से कह रहे थे

कि वह बहुत दूर जा रहे हैं शाम को जब उनकी पत्नी बेटे को घुमाने के लिए बाहर ले गई तो इसी दौरान यशवंत सिंह ने फांसी लगा ली परिवार के अनुसार वेतन न मिलने के कारण यशवंत सिंह की आर्थिक स्थिति काफी कमजोर हो गई थी इसलिए उन्होंने अपनी एक बेटी को रायपुर में नानी के पास भेज दिया था वह वहीं पढ़ाई करती है जबकि उनकी पत्नी व छोटा बेटा उनके साथ ही रहते थे प्रेमनगर थानाध्‍यक्ष कुलदीप पंत ने बताया कि मृतक के पास से बरामद हुए सुसाइड नोट व पत्नी की तहरीर पर प्रभारी सीएमएस के खिलाफ आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज किया गया है सुसाइड नोट में यह जिक्र नहीं किया गया है कि किस तरह उन्हें प्रताडि़त कर रहे थे मामले की जांच की जा रही है इसके बाद अगली कार्रवाई की जाएगी

rudranews
Author: rudranews

Leave a Reply

Your email address will not be published.

FOLLOW US

RELATED STORIES

live cricket Update

Stock Market

हमसे अन्य सोशल मीडिया में जुड़े